इस ब्लाग की सभी रचनाओं का सर्वाधिकार सुरक्षित है। बिना आज्ञा के इसका इस्तेमाल कापीराईट एक्ट के तहत दडंनीय अपराध होगा।

Sunday, March 16, 2014

होली.........



फागुन की बहार
रंगों की बौछार
भंग का खुमार
गुझिया मजेदार
थोड़ी सी तकरार
ढेर सारा प्यार
प्रियतम का इंतजार
दिल बेकरार
आओ मनाएँ मिलकर
होली का त्योहार

4 comments:

  1. आपकी बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति
    --
    आपकी इस अभिव्यक्ति की चर्चा कल सोमवार (03-03-2014) को ''होली आई रे आई होली आई रे '' (चर्चा मंच-1554) पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर…!

    ReplyDelete
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति।
    रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर
    होली की हार्दिक शुभकामनाऐं ।
    new post: ... कि आज होली है !

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दरता से आप अपने भावों को शब्द दे रहें है .. KAVYASUDHA ( काव्यसुधा )

    ReplyDelete